Movie Review
फिल्म समीक्षा : प्यार और बदले की कहानी “साहेब बीवी और गैंगस्टर 3”
28/07/2018
- एस.पी. चोपड़ा . तिग्मांशु धुलिया के नाम के आगे जहां हासिल, साहेब बीवी और गैंगस्टर और पान सिंह तोमर जैसी उम्दा फिल्में दर्ज हैं तो दूसरी ओर इसी निर्देशक ने बुलेट राजा, राग देश और शागिर्द जैसी कमजोर फिल्में भी दी हैं। यानी तिग्मांशु धुलिया अभी भी विश्वसनीयता नहीं बना पाए। साहेब बीवी और गैंगस्टर सीरिज की फिल्में उन्होंने देखने लायक बनाई थीं। हालांकि पहले पार्ट की तुलना में दूसरा पार्ट थोड़ा कमजोर था, फिर भी तीसरे पार्ट से उम्मीद थी क्योंकि यह तिग्मांशु का चिर-परिचित मैदान था, लेकिन इस बार तिग्मांशु ने बुरी तरह निराश किया। साहेब और बीवी के किरदार तो तय हैं, गैंगस्टर बदलता रहता है और यही किरदार अलग रंग लिए रहता है। पहले पार्ट में यह किरदार रणदीप हुड्डा ने निभाया था और दूसरे भाग में इरफान खान ने। तीसरे पार्ट में संजय दत्त 'गैंगस्टर' के रूप में नजर आए हैं। इस किरदार को ठीक से नहीं लिखा गया है और संजय दत्त ने भी बहुत ही बुरी एक्टिंग कर मामले को और बिगाड़ दिया है।

# कहानी: इस फिल्म की कहानी का प्लॉट भी तिग्मांशु की पहले वाली दोनों फिल्मों से मिलता-जुलता है, लेकिन इस बार जिमी शेरगिल और माही गिल के बीच गैंगस्टर के तौर पर एंट्री ली है अभिनेता संजय दत्त ने. फिल्म की कहानी पिछले पार्ट से आगे बढ़ती है, जिसमें  दिखाया जाता है कि साहेब आदित्य प्रताप सिंह (जिमी शेरगिल) जेल में हैं और बीवी माधवी देवी (माही गिल) राजमहल में रहकर सियासत को संभाल रही हैं. उधर लंदन में गैंगस्टर व दूसरी सियासत के राजकुमार उदय प्रताप सिंह (संजय दत्त) अपना एक बार चलाते हैं. माधवी देवी नहीं चाहतीं कि उनके पति जेल से बाहर आएं. इसके लिए जब उदय प्रताप सिंह भारत आते हैं तो वो उनकी मदद लेती हैं. इस बीच दोनों के बीच नज़दीकियां बढ़ जाती हैं, लेकिन एक दिन आदित्य प्रताप को ज़मानत मिल जाती है. उसके बाद साहेब आदित्य और गैंगस्टर उदय का आमना-सामना होता है. जिसे देखने के लिए आपको सिनेमा घरों का रूख़ करना पड़ेगा.
  
  
# एक्टिंग: बात करे एक्टिंग की तो, फिल्म में जिमी शेरगिल ने अपने किरदार को बांधे रखा है. सिससे वो दर्शकों को ख़ुद से जोड़ने में क़ामयाब साबित होते हैं. माही गिल का किरदार पहले दो हिस्सों की तुलना में इस बार ज़्यादा मज़बूत था और वो इसे निभाने में सफल भी रहीं. फिल्म में चित्रांगदा सिंह गैंगस्टर बने संजय दत्त की गर्लफ्रेंड की भूमिका में हैं. वहीं दीपक तिजोरी ने ठीक-ठाक एक्टिंग की है. इस फिल्म की कहानी में कबीर बेदी, नफीसा अली और दीपक तिजोरी जैसे कलाकारों के किरदारों का ग्राफ नाममात्र है.वहीं दीपक तिजोरी ने ठीक-ठाक एक्टिंग की है. इस फिल्म की कहानी में कबीर बेदी, नफीसा अली,सोहा अली खान और दीपक तिजोरी जैसे कलाकारों के किरदारों का ग्राफ नाममात्र है.
 

 

# क्यों देखें: बहरहाल,यदि आप संजय दत्त के फैन्स है तो एक बार देख सकते है.फिल्म का संगीत बेदम है.एडिटिंग बेहद लूज़ है. सिनेमाटोग्राफी और अन्य तकनीकी पक्ष औसत दर्जे के हैं.
 
 
रेटिंग : 2.5 / 5
फिल्म: साहेब बीवी और गैंगस्टर 3 
कलाकार: संजय दत्त, माही गिल, जिमी शेरगिल, चित्रांगदा सिंह, सोहा अली खान, कबीर बेदी, नफीसा अली, दीपक तिजोरी.
निर्माता: राहुल मित्रा, तिग्मांशु धुलिया
निर्देशक: तिग्मांशु धुलिया
सेंसर सर्टिफिकेट: केवल वयस्कों के लिए 
 




Total View  383



Ad
»»


Copyright @ The Image Star